none

माना तुम्हारे नगर में नए है हम

थोड़े रुतबे से भी गिरे हुए है हम

पहचान बनाना चाहते है, ज़माने में

नाम अपना कायम करना चाहते है।

यूं जलन कि भावना तुम ना दिखाओ

थोड़ा सहयोग अगर मेरे कामयाबी में

हो सके तो दर्शाव।

मेहेज़ ओदा मेरा होगा लेकिन नाम

मेरे संग तेरा भी होगा।

ये मान लो ना राजा का बेटा राजा हो

ये ज़रूरी नहीं होता,उसका लगाव

केवल सिंहासन से हो ये भी कोई नहीं कह सकता।

अगर ज़जबा मुझ में है तो एक दफा अधिकार दो ना

मुझे भी हीरों सा चमकने का मौका दो ना

चमक गए अपने बल से जिस दिन ज़माने में

कलाकार कहलाएंगे, वरना दुनिया वाले मुझे

अदाकार और फनकार ना बनाएंगे।

है गुज़ारिश तुम सबसे(ज़माने से)

गर चढ़ जाऊं अपने मंज़िल की चोटी पर

तो गिराने की कोशिश ना करना

मेरा हौसला अफजाई नहीं कर सकते

तो मुझे बदनाम भी ना करना

कुछ ऐसा काम ना करना की शर्मसार हो जाऊं

मै अपने ही नजरो में गुनहगार बन जाऊं।

नतीजा इसका सिर्फ इतना होगा

लोगो का कुछ ना जाएगा

मेरी बातें कर उनका मन भर जाएगा

लेकिन मेरे जीवन का मजाक बन जाएगा

मेरा जीना इस दुनिया में तबाह हो जाएगा।

Spread the love