सोशल मीडिया ( mobile technology)

कभी अपनो को करीब किया,

कभी अपनो को ही दूर लाया,

कभी किसी का भविष्य सुधारा, शिक्षा का आधार बना,

कभी किसी की अधूरी नींद, चिड़चिड़े पन का आसार बना।

जैसे हर चीज़ के दो पहलू होते हैं अच्छाई और बुराई,

ऐसे ही (social media) मोबाइल के भी दोनो पहलू हैं ये है युग की सच्चाई।

निर्भर करता है हम किसको अपनाते हैं।

इसके प्रयोग से अपने सुनहरे पलों को गवाते हैं, या इसके ही सही उपयोग से सफ़लता को पाते हैं।

-खाँन अतिया रफ़ी

 

Spread the love