सुनहरा बचपन

हम सभी बचपन में चाहते है कि हम जल्दी से बड़े हो जाएँ परन्तु जैसे ही हम बड़े हो जाते है तो उम्मीद करते हैं कि काश! हमारा बचपन दोबारा हमें मिल सके जो सम्भव नही होता। असल में देखा जाये तो बचपन का जो समय होता है, वो बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है।

बचपन के दिनों में इतना रोमांच भरा होता है कि हर कोई फिर से बचपन को जीना चाहता है। दोस्तों यह एक ऐसा समय होता है जहाँ एक बच्चा बिना किसी तनाव के, चिंता के अपना बचपन जीता है।

हर किसी के दिल में बचपन की सुनहरी यादें हमेशा रहती है । इसलिए बच्चो को अपना जीवन जी भर कर जीने दीजिए और उनको जल्दी बड़ा समझदार होना का बोझ ना डाले।

Spread the love