मेरी माँ

मैं हिस्सा हूं उसका,

प्यार है वह मेरा,

मेरे हर दर्द की दवा है वो,

मेरी प्यारी माहै वो |

इतना प्यार देती है वो,

मगर दिखाती नहीं,

भारती भी है तो प्यार से,

मुझ पर अपनी जान वारती है वो,

मेरे कुछ कहे बिना ही वो सब समझती है।

मेरे हर क्वेश्चन का आंसर है वो, मेरी हर प्रॉब्लम का सॉल्यूशन है वो,

मैं उन्हें हर बात बताती हूं,

कितनी बार मैं उनको रुलाती हूं, परेशान कर कर के थकाती हूं,

कभी कभी हंसाती हूं , मैं उन्हें खोने से डरती हूं ,

मेरे अंदर उनकी जान बसती हैं, बड़ा ही प्यारा है हमारा रिश्ता ,

मेरी माँ ही है मेरा फरिश्ता |

Spread the love