परिवार

 

हम चार लोगों की अपनी जिंदगानी है।
परिवार के रूप में सजी एक कहानी है।
जिंदगी चलती एक दूजे के साथ से
प्यार की यहाँ सजी, अनदेखी निशानी है।

साथ चले नहीं कभी एक दूसरे का हाथ पकड़े
मुसीबत में हम अक्सर साथ नजर आते हैं
जो हारने लगे कभी हम में से ही कोई
उसे हालातों से लड़ने का मार्ग बताते हैं

सहारा नहीं बनता यहाँ कोई किसी का,
सबको अपने दम पर ही मंजिल पाना है
चलती है जिंदगी संघर्षों से भरी यहाँ
अपनीं जंग खुद जीत कर दिखाना है।

मेरे परिवार में मुझे अक्सर लड़ना सिखाया जाता है,
हार ना जाऊँ कही, इसलिए योद्धा बनाया जाता है।

Krishan Kant Sen

Insta : @krishankant.sen.jr

Spread the love