गृह कार्य

गृह कार्य
रोज सुबह उठकर हम,
जब बस्ता लगाते हैं,
सोचते हैं गृह कार्य नहीं किया,
शिक्षक की डांट खाते हैं,

पर जब भी हम करके लाते,
शिक्षक का प्यार है पाते,
तो बच्चों  कभी ना छोड़ो गृह कार्य,
और करो इसे अनिवार्य||

– जाह्नवी बत्रा

Spread the love