खुद पर

एक विश्वास खुद पर रख ,

कुछ करने का ख्वाब रख ।

यू मिलती नहीं मंज़िल ,

कुछ करने की चाह रख ।

तु चल आगे बढ़ ,

तु रुक मत बढ़ते चल,

यू मन का सूरज बुझने न देना।

कुछ करने की चाह रखना

जो सोच लिया समझो पा लिया,

सफलता की और कदम बढा लिया।

तु हिम्मत मत हार ,

अभी तो आगे बढ़ना है ।

काटो भरे राहो पे चलना है,

मंज़िल हासिल करना है।

एक विश्वास खुद पर रख ,

कुछ करने की चाह रख।

Spread the love