Search for:
Vampire lover (Her Little Universe)

Welcome to the world of supernatural beings..
Reality and fiction

She loved him. He was meant to be hers.
But, neither of them could stay in each others’ worlds.
There was an enormous gap between their worlds.
For, she loved her fictional hero to the core.
It hurt her because he existed in the world of fiction.
And, she in the real world.

But,  her love for her vampire has not faded away ❣❤💖💓

#vampirelover. Read More

Parenting
  • Parenting is the main part of any child’s progress but one question always trouble the parents how we manage our parenting beautifully.In today’s time parents expect from their child very much but they give their child very less.Whether this is the time when parents have to give their time and attention to kids otherwise they can ruined by mobiles, television and tabs etc.Rather these are the main devices in today’s life without these devices life is difficult for all of us but on the other hand mobile,tabs are very harmful for kids eyes.In today’s time parents behave like dictator with their kids but kids need friends in their parents.If parents be their children’s friend,the progress of kids is sure.We know that our life is depend on our karma but a child progress is definitely depend on their parents.So parents keep support ur kids and change the mentality of yours and others.
‘राखी’

राखी रिश्ता निभाती है
भाई-बहन के प्यार को गहरा बनाती है
होता है कच्चा धागा राखी का,
पर बहन की पक्की दुआए उसमें समाती है

राखी रिश्ता निभाती है
भाई- बहन को एकदूसरे की याद दिलाती है
संग-संग अपने,
भाई की सलामती की दुआ लाती है

राखी रिश्ता निभाती है
भाई-बहन को करीब लाती है
अटूट रिश्ते को,
प्यार केे नए रंग मे रंग डालती है

माँ तेरे जैसा ना कोई

सुबह-सवेरे जल्दी उठकर
देर रातो तक जगकर सोई
सच में माँ तेरे जैसा ना कोई

बच्चों की चुप्पी पढ़कर
समझली तुमने बातें खोई
सच में माँ तेरे जैसा ना कोई

हर कोई है तुम्हारे पास हुनर
पर इस पर तुम ना इतराई
सच में माँ तेरे जैसा ना कोई

रौनके है घर की तुम्हारे होने पर
तुम्हारे जैसा ना कोई पकाता रसोई
सच में माँ तेरे जैसा ना कोई

मुस्कराहटें है हमारी तुम्हारे होने पर
तुम संग हर मुश्किल आसां होई
सच में माँ तेरे जैसा ना कोई..……

भूल बैठा है इंसान

इंसान करना चाहता है इंसान पर हुकूमत
मौत को बनाकर खेल,
भूल बैठा है इंसान,होती भी है इंसानियत
ये देश में तानाशाही
ये लोगो के दिलों में खौफ
भूल बैठा है इंसान,
आनी है उसे भी मौत
उजड़ते हुए घर चीखों का मंजर
भूल बैठा है इंसान,
जाना है उसे भी रब के दर
हैवानियत का हो गया कुछ ऐसा तुझपर असर
भूल बैठा है इंसान,
अपनी रूह की आवाज़ का असर
खुदा समझ के खुद को लोगो पर हुक्म चलायेगा
भूल बैठा है इंसान,
रब के आगे कैसे शक्ल दिखायेगा
खाक होके तू भी रब के दर जायेगा
तरस ना आएगा खुदा को भी,
जब तू गिड़गिड़ायेगा…

एक फौजी

सरहद पर बैठा एक फौजी,
घर बापसी के सपने बुन रहा था
कभी माँ की गोद,
तो कभी पिता के प्यार के अहसास को सुन रहा था

सरहद पर बैठा एक फौजी,
घर बापसी के सपने बुन रहा था
कभी बहना की राखी,
तो कभी भाई की शरारतो के मीठे ख्यालों को चुन रहा था

सरहद पर बैठा एक फौजी
घर बापसी के सपने बुन रहा था
कभी दोस्तों की बदमाशियो,
तो कभी गाँव की पगडंडियों में उसका दिल घूम रहा था

सरहद पर बैठा एक फौजी,
घर बापसी के सपने बुन रहा था
कभी बीबी की मुस्कुराहट,
तो कभी बच्चों की किलकारियों की धुन सुन रहा था

MUTE

                                      Once upon a time, there lived a young woman named Clara County. She was the heartthrob of her family.

                                     Days later, while she ambled down the street from her hut,  a gang of robbers caught her. They threatened her and she got petrified.  And, she was locked in an apartment. After sometime, she paced around the dingy apartment.
As she explored, Clara came across a wooden box📦. At first, she hesitated. But, later, she mustered up courage and unlocked the box.  There was a doll inside.  The doll looked at her. But,  Clara didn’t feel euphoric. She locked the box and plodded to the far end of the room.

After a fortnight, she happened to listen to a voice. And, she  walked towards the sound. Clara heard a voice and she opened the wooden box📦. The doll sang her a melodious song🎵. A few hours later, the doll unearthed truth. Clara was a differently abled woman👩. After some time the robbers arrived and took her along with them. They conducted a study on her. One of them, felt empathetic towards her.  He discussed about the same to his mates. After many hours, they decided to set her free. She ran back to the  apartment and frantically searched for the wooden box📦. But, it was all in vain. She ambled back to her home.

Weeks later, she got a surprise gift from the gang. They gifted her the wooden box📦 and she felt glad within.

                                                                                                        The End

Proud Indian

Whenever we see our beautiful culture
From culture to our nurture
Then we are proud indian

Whenever we see our players victory
We go crazy for our silvery
Then we are proud indian

Whenever we hear our different languages
We are in love with every phrases
Then we are proud indian

Whenever we see the beauty of GOD
We love hindu,muslim,sikh,isai everybody’s lord
Then we are proud indian

Whenever we lost our confidence
Remember our freedom fighters and their elegance
Then we are proud indian

‘वीर क्रांतिकारी’

जुल्मों का बढ़ा हुआ था दौर
हर तरफ थी गुलामी,
थी बंदिश चारो ओर
तब उबाल खून में उठ पड़ा था
है भारत भूमि हमारी,
हर वीर क्रांतिकारी बोल पड़ा था

डर ने दिलो पर कब्जा किया था
अपने हक़ भी ना थे अपने,
अंग्रेजो ने ऐसा बोलबाला किया था
उम्मीद की लौ जलाई थी
किया था उजाला हर तरफ,
हर वीर क्रांतिकारी ने हुँकार ऐसी लगाई थी


पीछे ना हटे थे सीने पर गोली खाने से,
बुलंद थे इरादे उनके,
भारत को आजादी दिलाने के
धूल अंग्रजो को चटाई थी
अपनी आखिरी सांस तक लड्के,
हर अमर क्रांतिकारी ने भारत को आजादी दिलाई थी

 

‘एक लड़की’

है भोली और चंचल सी एक लड़की
है निर्मल और शीतल सी एक लड़की

है मस्त-मलंग सी एक लड़की
है सुंदर रूप-रंग सी एक लड़की

है सबके लिए फिक्रमंद सी एक लड़की
है सबकी खुशी में रजामंद सी एक लड़की

है अतरंगी-सतरंगी सी एक लड़की
है भली-चंगी सी एक लड़की

है समझदार-होशियार सी एक लड़की
है बेशुमार प्यार सी एक लड़की

है कुछ-कुछ मुझसी एक लड़की
है कुछ-कुछ तुझसी एक लड़की