हँ मै नारी हूँ

हाँ मैं नारी हूँ।

नारी के रूप में एक शक्ति हूँ ,

ईश्वर की सुंदर अभियक्ति हूँ।

मैं स्त्री हूँ, मैं नारी हूँ,

इस जगत मैं प्यारी हूँ ,

लेकिन सब पे भारी हूँ ।

मैं अबला नही , मैं सबला हूँ।

मेरे अनेक रूप हैं ,

कभी दुर्गा तो कभी चंडिका ।

पुरुषो के जैसी न मैं ,

पर पुरुषो से कम भी न मैं।

हाँ मैं नारी हूँ ,

इस जगत की सुंदर रचना हूँ ।

Spread the love