बंद दरवाजा

काश यें बंद दरवाजा यूं खुल जाए,
दिल के कौने में छिपे हैं थोड़े सपने,
काश वो पंख लगाकर उड़ पाए।

कौन अपना ही कौन पराया,
आज वो राज़ भी खुल जाए,
सबका असली चेहरा अब सामने आजाए।

सपने और रिश्ते दोनो ही अब बेपर्दा हो जाए,
काश ये बंद दरवाजा यूं खुल जाए।

बंद दरवाजा
Spread the love