नारी हूँ

हाँ मैं नारी हूँ।

मैं शक्ति हूँ समाज की

हर हाल मे रक्षा करती हूँ

मैं शक्ति हूँ स्वय की

पर मैं कमजोर नहीं

धरती से लेकर आसमान तक

हर जगह परचम लहराया है

हाँ मैं नारी हूँ ।

नारी शब्द से समानित हूँ।

दुर्गा का रूप हूँ

किसी भाई की राखी का आधार हूँ

एक माँ की बेटी हूँ

पतिवर्ता पत्नी हूँ

हाँ मैं नारी हूँ

त्रिलोक मे सभी पे भारी हूँ

मैं शक्तिशाली नारी हूँ

 

 

Spread the love