तेरा यूँ (7/12)

रास्ते में तेरा यूँ मेरी बाँहें पकड़ कर चलना,
मुझे चोरी से तेरा यूँ देखना,
समझकर भी तेरा यूँ नासमझ बनना,

तलाशता हूँ मैं,
इस वीरनेपन मे
तेरी यादों के संग…तेरी यादों के संग…
©Manthan Prateek

Spread the love