तुम्हारी याद

वक़्त को भी रोक लेंगे तेरे लिए

एक बार तुम मिलो तो सही

हर खुशी जाहिर कर देंगे

एक बार मौका तो दो

चिठी के हर अल्फ़ाज याद हैं

जो भी सिरहाने थे

आज भी हम वही पुराने हैं

एक बार देखो तो सही

इस दुनिया के भीड़ मे शामिल हूँ

अपनी नजरो से तुम.. देखो तो सही

अब अपनी खुशी जाया नही करते

तेरे आने की खुशी मे

एक अनसुना सा राज

दिल मे छुपी जज्बात

वो सुनी सुनी सी बात

हर पल तेरी याद दिलाती है

अब नही है कुछ मेरे दिल मे तेरे सिवा

एक बार मुड़ के देखो तो सही

तेरे बिना जिंदगी कटती नही

तेरी याद सिमटती नही

अपनी नज़रों से देखो तो सही

 

Spread the love