डरती हूँ

हर  बार अपना कर छोड़ा  है उसनें

मेरे दिल को जोड़ कर तोड़ा है उसनें

उससे दुर जाने से डरती हूँ

हर दुआ में बस उसे ही मागा करती हूँ

… काजल मिश्रा..

Spread the love