जो शख्सियत मेरे पास है

जो शख्सियत मेरे पास है

लम्हे आते जाते रहे हैं
यह खुशी मेरे साथ है
वक्त की क्या मजाल है
कि उसे छेड़ दे
जो शख्सियत मेरे पास है

जिस आते-जाते गम को
मेरे ही दुख की प्यास है
ऐसी भी क्या बात है
यह भी आजमा ले उसे
जो शख्सियत मेरे पास है

मेरा भी यह आकाश है
मुझ में भी कोई बात है
कोई कह कर तो देख ले
कि तेरी क्या औकात है
रॉन्ड्डा लेगी उसे
जो शख्सियत मेरे पास है

जो शख्सियत मेरे पास है
वह आज भी आबाद है
यह मेरी ही आवाज है
मैं शांति से काम लेता हूं
वो एक अलग बात है
शोर मचाने आएगी
जो शख्सियत मेरे पास है
जो शख्सियत मेरे पास है

Spread the love