जैसे आप समझते हो मुझे,

जैसे आप समझते हो मुझे,मेरी खामोशियों को, मेरे चेहरे को पढ़ने की तमाम कोशिशे कर देते हो, मेरे दु:ख की वजह जानने के लिए हठ करते हो और मैं जब बिना रूके आपसे से एक सांस में अपना हाल कह देती हूँ, असंख्य सु:ख-दु:ख भरी बातें सब कुछ आपसे कह देती हूँ, मन हल्का सा लगने लगता है,

Spread the love