जवाब मिलेगा

जवाब मिलेगा,
सबका जवाब मिलेगा,
काफारों की झूठी फरमाइश का,
गद्दारों की बेबुनियाद नुमाइश का,
जवाब मिलेगा,
जिसने सल्तनत को कब्जाना चाहा,
और ख़ल्क़-ए-हिन्द को हथियाना चाहा,
उन सब नापाक मंसूबों का,
जवाब मिलेगा,
उन सब को जो मुल्क के खिलाफ हैं,
और बनकर बैठे नवाब है,
उनके गलत इरादों का,
जवाब मिलेगा,
मिलेगा जवाब उनको जो सादगी को
मौकापरस्ती समझते हैं,
मुंह पे राम बगल में छुरी रखते हैं
ऐसे बेगैरत लोगों को,
जवाब मिलेगा,
जवाब मिलेगा उनको जिसने देश को चोट पहुँचाई है,
भारत की सरजमीं पे घुसने की हिमाकत दिखाई है,
कोह-ए-गरा को पार करने की चाह जताई है,
याद रखना ऐ सल्तनत के दुश्मनों
अब तुम्हारी शामत आयी है,
क्योंकि जवाब मिलेगा।

Spread the love