ख़ुदा

वो मेरे गुनाहों की पर्दा पोशी हर बार करता है

मेरी हर माफ़ी पर मेरा रब मुझे माफ़ करता है

मेरा मौला मेरा दाता, रहीमो करीम है।

बेशक़ वो ही सबसे अज़ीम है।

खाँन अतिया रफ़ी

 

Spread the love