कोविड 19 और दुनिया

वक्त रूक सा गया

ज़िंदगी थम सी गई

पहली दफा ऐसा लगा कि

दुनिया पलट सी गई।

 

आसमान को ढकती धुंध

कुछ साफ हो गई

इंसानों का शोर इतना कम हुआ

कि ख़ुदा और मेरी भी बात हो गई।

 

 

कोरोना हारेगा, देश जीतेगा।

 

सच कहूं तो, उस रोजमर्रा की

भागम दौड़ से दूर

घर बैठे बैठे, नियत मेरी भी

कुछ साफ हो गई।

 

ठहराव कितना ज़रूरी है

ये समझ आने लगा

मरके भी जीना कितना ज़रूरी है

ये वायरस यह एहसास दिलाने लगा।

Spread the love